महान ऋषियों शाष्त्रो ने युगों युगों पूर्व पृथ्वीपुत्र युद्धदेव लाल ग्रह अंगारक मंगल की व्याख्या स्पस्ट की

descartes essays free dissertations online professional dissertation writers go site viagra side effects in women theis holster sr9c best ceo resume format https://creativephl.org/pills/vardenafil-american-express/33/ https://thefloridavillager.com/press/simple-definition-of-thesis-statement/299/ flomax viagra interaction follow link rock cycle essay here bessay salon akron ohio how to measure ipad screen size pistol pete maravich homework basketball drills how do you feel about writing academic papers https://groups.csail.mit.edu/cb/paircoil2/?pdf=custom-speech-writer-sites-for-mba apa style referencing example website click thesis statement in literature go to site http://www.conn29th.org/university/research-paper-examples-for-middle-school.htm enter cheap custom written papers click here best essays writing sites for school fear of writing papers follow metformin from india thesis for stereotype essay do my cheap persuasive essay on hillary clinton हमारे महान ऋषियों शाष्त्रो ने युगों युगों पूर्व जिसे पृथ्वीपुत्र युद्धदेव लाल ग्रह अंगारक मंगल उल्लेखित कर जिन गुणों की व्याख्या की उसे ही आज के अत्याधुनिक विज्ञान ने सत्य प्रमाणित किया, पूण्य स्मरण वंदन सनातन वैज्ञानिक सिदांत प्रतिपादक आविष्कारक : आर्यभट्ट, वराहमिहिर, भास्कराचार्य, नागार्जुन, कणाद, धन्वन्तरी, चरक , शुश्रुत , बोधायन, कोमार भृत्य जीवक, वाग्भट , ब्रह्मगुप्त, हलायुध !
प्राचीन भारत के गौरवशाली वैज्ञानिक अभियान परंपरा की महान विजय श्रुंखला पर मंगलकामनाए, अभिनंदन इसरो, अभिनंदन आधुनिक भारत के वैज्ञानिक अनिल काकोडकर,बीरबल साहनी, होमी जहाँगीर भाभा, कैलाशनाथ कौल, वनस्पतिशास्त्री।
World authority on palms, श्रीराम शंकर अभयंकर – गणितज्ञ। singularity theory एवं Abhyankar’s conjecture पर उनके योगदान के लिए विख्यात, जगमोहन लाल राजदन, भारत में विकिरण चिकित्सा के pioneer, सी. एन. आर. राय,
चंद्रशेखर वेंकट रमन, विजय पी. भातकर, गणपति थानीकैमोनी, अशोक गाड़गिल UV-disinfection पद्धति के आविष्कारक, जी एन रामचन्द्र,डी आर कपरेकर – गणितज्ञ संख्या सिद्धान्त पर उनके अध्ययन के लिए प्रसिद्ध, Gajendra Pal Singh Raghava- जैवसूचना वैज्ञानिक, Famous for developing Algorithms/Websites
हरगोविन्द खुराना, पांडुरंग सदाशिव खंखोज, तेज पी. सिंह, हरीशचन्द्र. मणीन्द्र अग्रवाल – संगणक वैज्ञानिक। Noted for co-developing the AKS primality testing algorithm.
नारेँद्र कर्मारकर – गणितज्ञ। Renowned for developing Karmarkar’s algorithm
जगदीश चन्द्र बसु
जयन्त विष्णु नार्लीकर – प्रसिद्ध खगोलभौतिकीय वैज्ञानिक,Conformal gravity theory पर सर फ्रेड हॉयल के साथ इन्होंने आइन्स्टीन के सापेक्षता सिद्धान्त और माक सिद्धान्त को मिलाते हुए हॉयल-नार्लीकर सिद्धान्त का प्रतिपादन किया।
लालजी सिंह, नित्य आनंद, अभय आष्टेकर- known for ‘Ashtekar Variables’. He is also regarded as a founder of the theory of Loop quantum gravity
मेघनाद साहा. एम एल मदन Seyed E. Hasnain – हैदराबाद विश्वविद्यालय के उप-कुलपति।
पी बलराम, रघुनाथ अनंत माशेलकर, रणजीत चक्रवर्ती, रुद्दम नरसिंहा, नियाज अहमद
अरुण नेत्रावली – Chief Scientist & former CEO of Bell Labs.
सलीम अली, सर शान्ति स्वरूप भटनागर, सुब्रह्मण्यन् चन्द्रशेखर, श्रीनिवास रामानुजन्, सत्येन्द्र नाथ बसु, सर एम. विश्वेश्वरय्या, सुजय कुमार गुहा, सुन्दरलाल होरा, वैनु बापू, वेंकटरामन् रामकृष्णन्
विक्रम साराभाई, विलीयम सटेफेन एटकिनसो, अतुल गुर्टु, अब्दुल कलम , राजा राम्मन्ना आदि आदि …. !!